Home देश कुंवर दानिश और गुलाम नबी आजादः जिनकी बदौलत रखी गई JDS और...

कुंवर दानिश और गुलाम नबी आजादः जिनकी बदौलत रखी गई JDS और कांग्रेस के गठबंधन की नींव

SHARE

बेंगलूरू – कर्नाटक में 15 मई का दिन इतिहास में दर्ज हो चुका है, इस दिन जहां भाजपाई दोपहर तक एक दूसरे को जीत की बधाई दे रहे थे, आतिशबाजी कर रहे थे वहीं दोपहर उनकी तमाम उम्मीदों पर पानी फिर गया। और भाजपा बहुमत से आठ कदम दूर रह गई। तब की स्थिती कुछ समझ आती उधर कांग्रेस ने जेडीएस को समर्थन देने का एलान करते हुए जेडीएस के प्रदेश अध्यक्ष और कर्नाटक के पूर्व सीएम एचडी कुमार स्वामी को मुख्यमंत्री बनाने का एलान कर दिया।

यह सब अचानक नहीं हुआ बल्कि भाजपा को बहुमत न मिलता देख जेडीएस के जनरल सेक्रेट्री कुंवर दानिश अली और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने जेडीएस और कांग्रेस के गठबंधन की नींव रख दी। कुंवर दानिश अली पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हापुड़ शहर के रहने वाले हैं, वे जेडीएस के प्रवक्ता भी हैं, और पूर्व प्रधानमंत्री एच़डी देव गौड़ा के बहुत करीबी हैं।

सूत्रों की मानें तो इन दोनों नेताओं ने मतदान के तुरंत बाद यानी 13 मई को दिल्ली एक होटल में मीटिंगकी थी। दोनों नेताओं के बीच चाय पर चर्चा के दौरान राज्य के सेक्यूलरिज्म और कर्नाटक का गौरव जैसे मुद्दों पर बातचीत हुई। और इसी मीटिंग के दौरान गठबंधन की नींव रखी गई थी।

बीते मंगलवार को जैसे ही चुनावी समीकरण साफ होने लगे, तो हालात को भांपते हुए गुलाम नबी आजाद ने दोपहर लगभग 12:30 जेडीएस नेता दानिश अली को फोन किया और फोन पर कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया को लाए, जिन्होंने जेडीएस नेता से बात की।

कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया की तरफ से हरी झंडी मिलने के बाद कुंवर दानिश अली बताया कि बसपा प्रमुख मायावती भी इस गठबंधन पर समहत हो जाएंगी। इसके फौरन बाद देवगौड़ा और गुलाम नबी आजाद को बताया गया कि गठबंधन के बारे वह आलाकमान को जानकारी दे दें। इस वक्त तक भाजपा 107 सीटों पर आगे चल रही थी जबकि कांग्रेस 61 और जेडीएस 38 सीटों पर आगे चल रही थी।