Home देश वाराणसी हादसाः अभिसार का सवाल, ’गोरखपुर मे बच्चों की मौत की तरह...

वाराणसी हादसाः अभिसार का सवाल, ’गोरखपुर मे बच्चों की मौत की तरह मौसम पर ठीकरा फोडा जाएगा?’

SHARE

नई दिल्ली – पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वारणसी में एक निर्माधीन ऑवर ब्रिज गिरने के कारण दर्जन भर से अधिक लोगों की मौत हो गई है। इस हादसे को लेकर जहां पीएम मोदी पर निशाना साधा जा रहा है वहीं भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ी जाने वाली लड़ाई पर भी सवाल उठ रहे हैं। दरअस्ल पीएम मोदी का एक नारा है कि न खाऊंगा न खाने दुंगा। लेकिन इसके बावजूद भ्रष्टाचार पर कोई रोक नहीं लग पाई है।

वरिष्ठ पत्रकार और फिल्म निर्देशक विनोद कापड़ी ने इस हादसे को लेकर नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने कहा कि जब देश के चौकीदार और प्रधानसेवक के संसदीय क्षेत्र में भ्रष्टाचार में आकंठ डूबा ब्रिज 18 लोगों की जान ले सकता है और पुल के ज़िम्मेदार यूपी राज्य सेतु निगम के मंत्री केशवप्रसाद का बाल भी बाँका नहीं हो सकता तो आप समझ लीजिए कि भ्रष्टाचार से लड़ाई सिर्फ भाषणों में लड़ी जा रही है।

उन्होंने आगे कहा कि क्यों सिर्फ कुछ अफ़सर और इंजीनियर ही सस्पेंड होते हैं ? क्यों इनके मंत्री सस्पेंड नहीं किए जाते?क्यों नहीं इन पर हत्या का मुकदमा चलता है ? हज़ारों करोड़ के प्रोजेक्ट में गड़बड़ चल रही हो और मंत्री जी को पता ना हो-ये तो आज के युग में संभव ही नहीं है।

इस दुर्घटना पर एबीपी न्यूज के एंकर अभिसार शर्मा ने भी प्रतिक्रिया देते हुए सवाल दागे हैं। क्या उत्तर प्रदेश मे बनारस के पुल हादसे के लिए, जिसमे 18 जानें गयी, नगर सेतू मंत्री का इस्तीफा मांगा जाएगा? क्या राजनीतिक जवाबदेही तय की जाएगी? या गोरखपुर मे बच्चों की मौत की तरह मौसम और अतिरिक्त कारण पर ठीकरा फोडा जाएगा?

वहीं युवा पत्रकार वसीम अकरम त्यागी ने ट्वीट किया है कि PM मोदी के संसदीय क्षेत्र के लोग कफन खरीद रहे हैं, कोई मौत और जिंदगी से जूझते अपने को बचाने को लिये दवा खरीद रहा है, खून खरीद रहा है, कोई अपनों को तलाश रहा है। मगर सत्ताधारी पार्टी विधायक खरीदने की फिराक मे हैं। यह देश सिर्फ ओ सिर्फ मुसलमान से नफरत करने की कीमत चुका रहा है।