Home सिनेमा फिल्म निर्देशक अनुभव सिन्हा का दावा, ‘हिंदू-मुस्लिम 15 दिन न्यूज़ चैनल देखना...

फिल्म निर्देशक अनुभव सिन्हा का दावा, ‘हिंदू-मुस्लिम 15 दिन न्यूज़ चैनल देखना बंद कर दें तो दोनों में प्यार हो जाएगा’

SHARE

लखनऊ फिल्म निर्देशक अनुभव सिन्हा की आने वाली फिल्म ‘मुल्क’ तीन अगस्त को देशभर में रिलीज होने जा रही है। फिल्म की रिलीज से पहले अनुभव सिन्हा अपने बयानों को लेकर चर्चाओं में हैं। उन्होंने बीते दिनों एक पत्रकार को पढ़ाई करने सलाह दे डाली थी जब उस पत्रकार द्वारा आतंकवाद को इस्लाम और मुसलमानों से जोड़ने की कोशिश की थी।

अब उन्होंने कहा है कि अगर देश के हिन्दु और मुसलमान सिर्फ 15 दिन के लिये न्यूज़ देखना बंद कर दें तो वे एक दूसरे प्रेम करने लगेंगे। अनुभव सिन्हा मानते हैं कि हिंदू और मुसलमान दोनों अपने धर्म और देश से प्यार करते हैं, लेकिन उन्हें इसे (देशभक्ति) साबित करने के लिए मजबूर न किया जाए।

मुल्क फिल्म के निर्देशक कवि और गीतकार गोपाल दास नीरज की एक गज़ल का शेर पढ़ते हुए कहा कि, ‘अब तो मज़हब भी कोई ऐसा चलाया जाए, जिसमें इनसान को इनसान बनाया जाए।’ उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद से ताअल्लुक रखने वाले फिल्म निर्देशक अनुभव सिन्हा का मानना है कि मज़हब कोई बुरा नहीं है, अगर एक दूसरे पर भरोसा किया जाए और एक दूसरे की नीयत पर शक न किया जाए तो सत्तर साल की नफरत को 70 घंटे में ही प्यार और खुलूस में बदला जा सकता है।

अनुभव सिन्हा के मुताबिक, ‘इस देश में न हिंदू दंगा चाहता है और ना ही मुसलमान, बस कुछ लोग हैं जो इन दोनों को लड़ते देखना चाहते हैं क्योंकि इसमें उनका फायदा है।’ अनुभव सिन्हा सांप्रदायिक तनाव के लिए मीडिया और सोशल मीडिया को ज़िम्मेदार ठहराते हुए कहते हैं कि अगर जनता न्यूज़ चैनल और सोशल मीडिया से रिश्ता तोड़ ले तो प्यार की बारिश बरसने में ज़्यादा वक़्त नहीं लगेगा।

जानकारी के लिये बता दें कि अनुभव सिन्हा की फिल्म ‘मुल्क’ तीन अगस्त को रिलीज़ होने जा रही है। यह फिल्म एक ऐसे मुस्लिम परिवार की कहानी है जिसका एक सदस्य आतंकवादियों में शामिल हो जाता है। यह फिल्म समाज में हर तरफ़ से उठती उंगलियों की चुभन झेलते बनारस के एक मोहल्ले में रहने वाले इस परिवार की जद्दोजहद और ख़ुद पर लगे देशद्रोही के दाग को धोने के संघर्ष की कहानी है।