Home देश कर्नाटक का नाटकः कुमार स्वामी ने दी BJP को चुनौती, ‘वो...

कर्नाटक का नाटकः कुमार स्वामी ने दी BJP को चुनौती, ‘वो हमारे तीन MLA तोड़ते हैं, तो हम BJP के 6 MLA तोड़ेंगे’

SHARE

बेंगलूरू – जनता दल सेकुलर के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कहा है कि मोदी सरकार देश में लोकतंत्र को खत्म करना चाहती है। कुमार स्वामी ने केंद्र सरकार पर कर्नाटक में कांग्रेस और जनता दल सेक्यूलर के गठबंधन के विधायकों को डराने के लिए प्रवर्तन निदेशालय जैसी एजेंसियों के उपयोग करने का आरोप लगाया।

उन्होंने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि चिंता की कोई बात नहीं है, अगर भाजपा जनता दल या कांग्रेस के तीन विधायकों को अपने पाले में करती है, तो वे लोग भाजपा के 6 विधायकों को तोड़ लेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि, “वो चाहे तीन  हो या दस चिंता मत करिए, अगर वे लोग जेडीएस या कांग्रेस से तीन विधायक तोड़ते हैं, तो हमलोग भाजपा से 6 एमएलए ला रहे हैं।” जब उनसे पूछा गया कि क्या वे अपने विधायकों की निष्ठा को लेकर निश्चित हैं तो उन्होंने कहा कि वे 100 फीसदी बेफिक्र हैं।

राज्यपाल पर निशाना

पूर्व मुख्यमंत्री कुमार स्वामी ने कर्नाटक के राज्यपाल पर भी निशाना साधा, उन्होंने येद्दियुरप्पा को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने के, राज्यपाल वजूभाई वाला के फैसले को ‘‘गैरकानूनी’’ करार देते हुए केंद्र सरकार पर गहरी नाराजगी जाहिर की। कुमार स्वामी ने कहा ‘‘यह केंद्र सरकार कैसा आचरण कर रही है? यह नरेंद्र मोदी सरकार देश में लोकतंत्र को ध्वस्त कर देना चाहती है।’’

बता दें कि कर्नाटक के राज्यपाल ने कुमारस्वामी का सरकार बनाने का दावा नजरअंदाज कर दिया। पूर्व सीएम ने कहा कि देश में शायद पहली बार ऐसा हुआ है जब बगैर बहुमत वाली पार्टी को सरकार बनाने का मौका दिया गया है और उसे सदन में बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का वक्त दिया गया। कुमार स्वामी ने सवाल किया ‘‘15 दिन का समय देने का कारण क्या है…क्या यह कारोबार के लिए है?’’

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार केंद्र सरकार की एजेंसियों का दुरूपयोग कर रही है। ‘‘वे विधायकों को डरा रहे हैं और उन पर दबाव बना रहे हैं। ’’ कांग्रेस विधायक आनंद सिंह के भाजपा में शामिल होने की खबरों के बारे में उन्होंने बताया कि उनके (आनंद सिंह) के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय का उपयोग किया जा रहा है क्योंकि उनके खिलाफ एक मामला लंबित है।

कुमार स्वामी ने दावा किया कि ‘‘ मैंने आनंद सिंह से बात नहीं की है…कांग्रेस के एक विधायक ने मुझे बताया कि आनंद सिंह ने उन्हें अपनी समस्या बताई। कांग्रेस विधायक ने मुझे संदेश दिया और मुझसे इस बारे में कोई पहल करने को कहा।’’