Home विदेश सीरिया के विस्थापित लोगों के लिए भारत से मदद लेकर पहुंचा MSO

सीरिया के विस्थापित लोगों के लिए भारत से मदद लेकर पहुंचा MSO

60
0
SHARE

अम्मान (जॉर्डन), 5 जून। सीरिया के युद्ध पीड़ितों और विस्थापित लोगों की आर्थिक और जीवनरक्षक मदद के लिए भारत के सबसे बड़े मुस्लिम विद्यार्थी संगठन मुस्लिम स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइज़ेशन ऑफ़ इंडिया के नेतृत्व में इमाम अहमद रज़ा मूवमेंट और आसरा फाउंडेशन के प्रतिनिधिमंडल ने यहाँ पीड़ितों में राहत सामग्री बाँटी।

संगठनों की तरफ़ से तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल दिल्ली से अम्मान होते हुए जॉर्डन सीरिया सरहद पर पहुँचा और जॉर्डन में शरणार्थी सीरियाई परिवारों की मदद की।टेलीफ़ोन पर प्रतिनिधिमंडल के संयोजक के रूप में जॉर्डन पहुँचे मुफ़्ती ख़ालिद अयूब मिस्बाही ने बताया कि उन्होंने अनाथ बच्चों के साथ रमज़ान का इफ़्तार किया और राहत सामग्री दी।

आपको बता दें कि सीरिया में पिछले पाँच साल से आतंकवादियों ने देश को अस्थिर कर दिया है जिसके मुक़ाबले के लिए सीरिया की सरकार लगातार संघर्ष कर रही है। देश के हालात चिंताजनक है और आतंकवाद ने देश के सामने गंभीर मानवीय सवाल खड़े कर दिए हैं। देश की सवा दो करोड़ की आबादी में 50 लाख लोग देश के बाहर शरणार्थी हैं जबकि 60 लाख लोग बेघर हो गए हैं। यही नहीं सीरिया में जो अपने घरों मे बचे हुए भी हैं उनमें से क़रीब एक करोड़ 35 लाख लोगों को तत्काल मदद की ज़रूरत है। जॉर्डन में सीरियाई शरणार्थियों की संख्या क़रीब 19 लाख 20 हज़ार है।

इसी संकट की घड़ी में मदद के लिए भारत में मुस्लिम स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइज़ेशन ऑफ़ इंडिया और इमाम अहमद रज़ा मूवमेंट ने लोगों से सीरियाई लोगों की मदद करने के लिए कहा। परिणामस्वरूप संगठनों के तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने जॉर्डन की राजधानी अम्मान होते हुए सीरिया की सरहद का सफर किया और जॉर्डन में कैम्पों में रह रहे आम सीरियाई लोगों तक भारतीय जनमानुष की मदद को पहुँचाया।

मुफ़्ती ख़ालिद अय्यूब मिस्बाही, नागपुर से आसरा फाउंडेशन के डॉ ओवैस हसन और बंगलुरू से सैयद इरशाद यह मदद लेकर पहुँचे हैं।  उन्होंने बताया कि यह पहला मौक़ा है जब जॉर्डन में शरणार्थी सीरियाई लोगों के लिए भारत से इतनी बड़ी मदद पहुँचाई गई है। यह संगठन क़रीब ढाई हज़ार परिवारों की मदद करेंगे और एक सप्ताह के बाद भारत लौट आएंगे।

आपको बता दें कि दुनिया भर से मुस्लिम और ग़ैर मुस्लिम तंज़ीमें विस्थापित और शरणार्थी सीरियाई लोगों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं और अपने अपने स्तर पर प्रयास कर रहे हैं। इससे पहले खालसा एड ने सीरिया में पहुँच कर पीड़ितों की मदद की और एक मिसाल क़ायम की थी। प्रतिनिधिमंडल ने राहत सामग्री में खाना, आवश्यक दवाइयां, पानी, और कपड़ों का इंतज़ाम किया है।

मुस्लिम स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइज़ेशन ऑफ़ इंडिया के इस प्रयास के बाद उन्हें देश विदेश से प्रशंसा मिल रही है। रमज़ान के दौरान यह मदद मिलने से प्रभावित सीरियाई लोगों को निश्चित ही बड़ी राहत मिलेगी।