Home पड़ताल कर्नाटक के नाटक पर राष्ट्रपति के नाम एक आम नागरिक खुला ख़त,...

कर्नाटक के नाटक पर राष्ट्रपति के नाम एक आम नागरिक खुला ख़त, ‘महोदय बगैर के चुनाव के ही यह देश BJP को सौंप दीजिये’

SHARE

महामहिम राष्ट्रपति महोदय

सादर नमस्कार

महोदय आपसे विनम्र निवेदन है की आप पूरे भारत गणराज्य की तमाम गैर भाजपा सरकारों को तत्काल प्रभाव से बरखास्त करके वहाँ के महामहिम राज्यपालों को ये निर्देश दे दें की वो भाजपा विधायक दल के नेता को सरकार बनाने के लिये न्यौता भेज दें। साथ ही साथ महोदय आप ये भी आदेश देनें का कष्ट करें की आगे से जब तक़ भारतीय जनता पार्टी चाहे और जब तक़ उसका जी ना भर जाए, वो तब तक़ इस पूरे भारत गणराज्य पर शासन कर सकती है।

साथ ही साथ महोदय आपसे निवेदन ही की आप तत्काल प्रभाव से चुनाव आयोग को भी ये आदेश दे दें की वो अब से भारत गणराज्य में किसी तरह की कोई भी चुनाव प्रक्रिया आयोजित ना करें और जहाँ जहाँ भी ग्राम पंचायतों से लेकर नगरीय निकायों की अवधि पूरी होती जाएँ उन सारी ग्राम पंचायतों और नगरीय निकायों की सत्ता भी भारतीय जनता पार्टी को सौंप दी जाए। महोदय आपसे ये भी निवेदन है की आगे से किसी किस्म का चुनाव करवाने में देश का पैसा और समय ना बर्बाद किया जाए।

महोदय इस भारत गणराज्य के एक जिम्मेदार नागरिक और मतदाता होने के नाते अब इस देश के लोकतंत्र के साथ और ज़्यादा अन्याय बर्दाश्त नहीं होता महोदय, लिहाज़ा भारत गणराज्य का एक जिम्मेदार नागरिक और मतदाता आपसे हाथ जोड़कर ये विनती कर रहा है की अब जब हर सूरत में सरकार भारतीय जनता पार्टी की ही बननी है और हर जायज़ और नाजायज़ तरीक़े से सरकार इन्हें ही बनानी है तब महोदय आपसे निवेदन है की चुनाव वगैरह की कवायद करके इस देश की जन-शक्ति और सरकारी खजाने का दुरुपयोग ना किया जाए।

बल्कि महोदय आपसे निवेदन है की जो उर्जा, जो धन और जो समय चुनावों में नष्ट किया जा रहा है बेहतर है उसे देश के विकास और तरक्की में खर्च होने दिया जाए। महोदय निवेदन है की भारत गणराज्य के महामहिम राष्ट्रपति होने के नाते आप मेरी पीड़ा और मेरी बातों को समझेंगे। महोदय निवेदन है की उपरोक्त बातों पर विचार विचार-विमर्श करने का कष्ट जरूर करें। धन्यवाद। जय हिंद, जय भारत,

देश का एक जिम्मेदार नागरिक/मतदाता

इस्लाहुद्दीन अंसारी जबलपुर (म.प्र.)