Home देश गौभक्ती की आड़ में करते थे गौतस्करी, गायों को बॉर्डर पार कराते...

गौभक्ती की आड़ में करते थे गौतस्करी, गायों को बॉर्डर पार कराते गौभक्तों को BSF ने किया गिरफ्तार

SHARE

नई दिल्ली – पश्चिम बंगाल के मालदा में सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने तीन गाय तस्करों को गिरफ्तार किया है,जो गायों की तस्करी बांग्लादेश में कर रहे थे तीनों की गिरफ्तारी आदमपुर भारत-बांग्लादेश सीमांत इलाके से हुई है,बीएसएफ अधिकारियों ने बाद में गिरफ्तार तस्करों को स्थानीय पुलिस को सौंप दिया.

प्राथमिक जांच में पुलिस को पता चला है कि अभी महानंदा नदी का जलस्तर बढ़ा हुआ है,आदमपुर सीमांत इलाके से होकर यह नदी बहती है,नदी के उस पार बांग्लादेश है. इन दिनों नदी के जरिये गायों की तस्करी धड़ल्ले से चल रही है.

तस्करों की पहचान रामू चौधरी, आलोक चौधरी और गया चौधरी के रूप में की गयी है,पुलिस ने बताया कि गिरफ्तारी के दिन आरोपी आदमपुर के छोटपुर इलाके में नदी के पास गायों को केला के थम्ब को रस्सी के जरिये बांध रहे थे  वे लोग मवेशियों को उस पार करा पाते इससे पहले ही उन्हें पकड़ लिया गया इस दौरान 28 गायों को भी जब्त किया गया.

पहले भी गिरफ्तार हुए

हाल ही में मध्यप्रदेश के ट्रक में हतना गांव से 92 गाय को ठूंस ठूंस कर भरा गया था, जिनमें सात गायो की मौत हो गई, जबकि 84 गायों को पुलिस ने गौशाला को सौंप दिया. ग्राम हतना में बड़ी मात्रा में आवारा गायों का बसेरा था. गांव के कुछ लोगों की सहमति से बुधवार की शाम एक ट्रक जिसका नंबर एमपी 13 एच 0285 हतना पहुंचा.

गांव के कुछ लोगों ने लाठियों से मार मार कर 92 गायों और बछड़ों को ट्रक में ठूंसा भर दिया. इन गायों को लेकर जा रहा ट्रक आगे जाकर फंस गया फंसे हुए ट्रक पर लोगों की नजर पड़ गई जिसमें गायें भरी हुई थीं. लोगों ने इसकी सूचना डायल 100 पुलिस और छतरपुर के गौरक्षको को दी.

सूचना के कुछ ही देर में छतरपुर से संजू पाठक के गौरक्षको के साथ पहुंचे और बमीठा थाना पुलिस मौके पर पहुंची. ट्रक में ठूंस ठूंस कर भरी गायों को एक एक कर बाहर निकाला गया. ट्रक से निकालते वक्त तीन गायें मरी मिलीं. जबकि चार गायों की बाद में मौत हो गई. पुलिस ने 84 गायों को बुंदेलखंड स्थित गौशाला नौगांव के अध्यक्ष संजू पाठक को सौंप दीं. पाठक ने बताया कि जो 84 गायें उन्हें सौंपी गई गईं थीं वह सभी स्वस्थ्य हैं. छतरपुर/बमीठा. ट्रक में ठूंस ठूंस कर भरी गईं गायं, सात की हो गई मौत.