Home विशेष रिपोर्ट खुलासाः रजिया बानो या शर्मा जी? फर्जी, सांप्रदायिक और नफरत फैलाने वाला...

खुलासाः रजिया बानो या शर्मा जी? फर्जी, सांप्रदायिक और नफरत फैलाने वाला प्रोफाइल हुआ बेनकाब

SHARE

नई दिल्ली – मध्यप्रदेश के मंदसौर में हुए सात साल की बच्ची के साथ रेप के बाद सोशल मीडिया समुदाय विशेष को बदनाम करने के लिये कुछ असमाजिक तत्वों ने फर्जी फेसबुक प्रोफाई का सहारा लिया था, और इस जघन्य अपराध का समर्थन किया था, अब इस मामले में सोशल मीडिया पर उस अकाउंट की पोल खुल गई है जिसके द्वारा यह वाह्यात चीजें पोस्ट की गईं थीं।

दरअस्ल फेसबुक पर रजिया बानो नाम की एक आईडी से टिप्पणी की गई थी जिसमें मंदसौर कांड का समर्थन किया गया था। दरअस्ल ये अकाऊंट पवन शर्मा नाम के युवक का है जिसने कुछ महीनों पहले नाम बदलकर रजिया बानो कर लिया था। और इस अकाऊंट से विवादित पोस्ट की गईं थीं, हद तो तब हो गई जब इस अकाऊंट से मंदसौर जैसी शर्मनाक घटना का समर्थन किया गया। और समुदाय विशेष को बदनाम करने की नाकाम कोशिश की गई।

दरअस्ल मंदसौर कांड के आरोपी समुदाय विशेष से संबंध रखते हैं, इसलिये सोशल मीडिया पर रजिया बानो नाम की फेक आईडी से समुदाय विशेष को कठघरे में खड़ा करने की कोशिश की गई। बता दें कि मंदसौर कांड के बाद मुस्लिम समाज ने ऐलान किया था कि इस केस के आरोपियो को सख्त से सख्त सजा मिले, और अगर अदालत उन्हें फांसी की सजा देती है तो शहर के मुसलमान उनके शवों को कब्रस्तान में दफ्न नहीं होने देंगे।

लेकिन इसके बावजूद सोशल मीडिया पर कुछ असमाजिक तत्व समाज में नफरत और जहर फैलाने के लिये समुदाय विशेष को निशाना बनाते रहे। रजिया बानो नाम की आईडी से वे तमाम तरह की पोस्ट की गईं जो इस शर्मशार कर देने वाली घटना का समर्थन करतीं थीं। फेक न्यूज की पहचान करने वाली समचार वेबसाईट ऑल्ट न्यूज ने इस आईडी की पड़ताल की तो पता चला कि वह आईडी रजिया बानो की नहीं बल्कि पवन शर्मा की है।

(ऑल्ट न्यूज की रिपोर्ट आप यहां क्लिक करके पढ़ सकते हैं)