Home देश अयोध्‍याः मुस्लिम विरोधी छवि तोड़ने के लिए RSS का आयोजन, सरयू किनारे...

अयोध्‍याः मुस्लिम विरोधी छवि तोड़ने के लिए RSS का आयोजन, सरयू किनारे होगी कुरानख्वानी, पांच लाख बार कुरआन की आयतों का पाठ होगा

SHARE

लखनऊ – 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले सभी वर्गों को में अपनी पैंठ बनाने के लिये भाजपा और आरएसएस अपनी रणनीति के तहत एक बड़ा कदम उठाया है। ऐसा पहली बार हो रहा है कि देश के इतिहस में आरएसएस कुरआन पाठ कराने जा रहा है।

आरएसएस ने ये फैसला अपनी मुस्लिम विरोधी छवि को तोड़ने के लिए लिया है, आरएसएस के अनुषांगिक संगठन मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने अयोध्या स्थित सरयू नदी के किनारे विशाल नमाज और कुरआन पाठ के कार्यक्रम का आयोजन किया है। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की तरफ  ये आयोजन 12 जुलाई को किया जा रहा है। प्राप्त  जानकारी के अनुसार इस कार्यक्रम में करीब 1500 मुसलमानों के साथ ही कई हिंदू धर्मावलंबी भी शिरकत करेंगे।

अयोध्या के इतिहास में यह पहला अवसर है जब इतने बड़े स्तर पर मुस्लिम समुदाय से संबंधित कोई कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा। बताया जा रहा है कि इस आयोजन के दौरान मुस्लिम धर्म गुरू वहां करीब 200 सूफी-संतों की मजार की जियारत भी करेंगे।  मुस्लिम राष्ट्रीय मंच द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में आने वाले सभी मुसलमान पहले एक साथ नमाज अदा करेंगे। और इसके बाद सरयू नदी के किनारे पर स्थित राम की पैड़ी घाट पर कुरआन ख्वानी का आयोजन होगा और कुरआन की आयतों का पांच लाख बार पाठ किया जाएगा।

बताया  जा रहा है कि इस कार्यक्रम को देश में सद्भावना और भाईचारे का संदेश देने के लिए आयोजित किया जा रहा है। उधर कई लोगों का मानना है कि इस आयोजन से राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ अपनी मुस्लिम विरोधी छवि को बदलना चाहता है।

आरएसएस के इस आयोजन को यूपी की योगी सरकार से भी सहयोग मिल रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण और आरएसएस नेता मुरारी दास इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होंगे।