Home देश कलयुग के ‘श्रवण कुमार’ बने ये चार भाई बूढ़े मां-बाप को कांवड़...

कलयुग के ‘श्रवण कुमार’ बने ये चार भाई बूढ़े मां-बाप को कांवड़ में बैठा कर करवाई हरिद्वार की यात्रा

SHARE

नई दिल्ली – सोशल मीडिया पर उन कांडवड़ियों की तस्वीरें वायरल हो रही हैं, जिन्होंने दिल्ली और बुलंदशहर में उत्पात मचाया है। लेकिन दूसरी तरफ ऐसी भी तस्वीरें कांवड़ यात्रा में देखने को मिली हैं जिन्होंने श्रद्धा से कल युग को हैरत में डाल दिया है। ऐसी ही एक तस्वीर हरियाणा के पलवल जिले के गांव फुलवारी निवासी चार भाईयो की है। ये चारो भाई अपने माता को कांधे पर बैठाकर हरिद्वारा की तीर्थ यात्रा कराकर लाए हैं।

इन चारो भाईयो ने ऐसा इसिलये किया ताकि उन्हें देखकर लोग भागदौड़ भरी जिंदगी में भी अपने माता-पिता को न भूलें और उनकी सेवा करते रहें। पलवल के इन चार भाईयो ने अपने माता-पिता को गंगा स्नान कराकर दूसरी बार अपने माता पिता की इच्छा पूरी की है।

न्यूज़ 18 इंडिया की खबर के मुताबिक इन भाइयों के माता-पिता हरिद्वार तक आने-जाने में असमर्थ नहीं हैं वे स्वस्थय हैं और खूब-चल फिर भी सकते हैं। लेकिन इन चारों भाइयों में अपने मां बाप के लिए इतना प्रेम और आदर है, जो इस दौर में दिखाई नहीं देता।

इन चारों भाइयों ने अपने मां बाप को कंधों पर बिठाकर ऋषिकेश, नीलकंठ, हरिद्वार और हरकी पौड़ी जैसे तीर्थ स्थलों के दर्शन और गंगा स्नान कराकर पलवल जिले के अपने गांव फुलवारी लौटकर यह साबित किया है कि इस दौर में भी श्रवण कुमार जीवित हैं। फुलवाड़ी गांव निवासी चंद्रपाल के चार बेटे हैं जिन्होंने अपने माता पिता कि यह इच्छा दूसरी मर्तबा पूरी की है।

इन चार भाईयों की माता रूपबती और इनकी मौसी का कहना हैं कि सब बहनों को उनके बेटे जैसे ही बेटे मिलने चाहिये। सबका भला हो सभी अपने मां बाप की सेवा करें और भगवान की ऐसे बेटों पर कृपा बनी रहे। वे कहती हैं कि कंधों पर बिठाकर हमें तीर्थों के दर्शन कराएं हैं, सभी के बेटे ऐसे ही अपने माता पिता को तीर्थ स्थलों के दर्शन कराकर लाएं।