Home सिनेमा IMPPA का कारनामा- क्या एक फ़िल्म निर्माता की ज़िंदगी की क़ीमत सिर्फ़...

IMPPA का कारनामा- क्या एक फ़िल्म निर्माता की ज़िंदगी की क़ीमत सिर्फ़ 40 रुपए होती है।

SHARE

नई दिल्ली – IMPPA के टी टी जो अध्यक्ष बनने से पहले बड़े और लुभावने वादे करने में सबसे आगे दिख रहे थे आज उनके कार्यों और वादों पर सवालिया निशान उठने लगे हैं जो उनके अध्यक्ष पद के लिए ख़तरा माना जा रहा है जिसपर पिछले दस सालों से टी टी का ही क़ब्ज़ा रहा है! दरअसल IMPPA फ़िल्म निर्माताओं का एक संघ है जो फ़िल्म जगत से जुड़ी समस्याओं के समाधान के लिए काम करता है जिसके अध्यक्ष पद के लिए बक़ायदा चुनाव किया जाता है।

IMPPA का अध्यक्ष पद पर क़ाबिज़ होने के पहले वर्तमान अध्यक्ष टी टी ने निर्माताओं से बड़े बड़े लोकलुभावन वादे ख़ूब किए थे मगर पिछले दस सालों में अध्यक्ष पद की कुर्सी पर बने रहने के बाद टी टी ने अपने किए वादों को जैसे भुला ही दिया हो जिससे अब निर्माताओं में ग़ुस्सा और विरोध साफ़ देखा जा रहा है।

विनोद छाबरा जिन्हें IMPPA का सबसे जुझारू सदस्य माना जाता है वो भी टी टी के विरोध में खड़े दिखाई दे रहे हैं अब जिनका नॉमिनेशन तक रद्द करा दिया गया था ने निर्माताओं की एक मीटिंग में संबोधित करते हुए कहा कि मैंने एक मामूली सदस्य रहते हुए भी अहमदाबाद में IMPPA का दूसरा ऑफ़िस खुलवाया,इंश्योरेंस के लिए लड़ाई लड़ने का काम है जबकि मैं अध्यक्ष भी नहीं हूँ। छाबरा ने अपने सम्बोधन में आगे कहा कि IMPPA में जिस तरह की राजनीति चल रही है वो हम निर्माताओं के लिए ठीक नहीं है हम सबको मिलकर IMPPA के महत्वपूर्व पद पर बैठे वादाख़िलाफ़ और झूठे वादे करने वालों के ख़िलाफ़ एकजुट होना चाहिए।

छाबरा ने ये भी कहा कि पिछले दस सालों से हम एक ऐसे व्यक्ति का समर्थन कर रहे हैं जो आज तक किसी सदस्य के लिए कुछ भी करने में असक्षम रहा है,विनोद छाबरा ने वर्तमान अध्यक्ष टी टी पर हमला बोलते हुए कहा कि टी टी ने मेडिकल इंश्योरेंस करवाने की बात कही थी लेकिन आज क़ई सालों बाद मेडिकल इंश्योरेंस नहीं करवाए बल्कि सिर्फ़ ऐक्सिडेंटल इंश्योरेंस उपलब्ध करवाया और वो भी सिर्फ़ चालीस हज़ार रुपए एक हज़ार लोगों लिए,तो क्या अग्रवाल की नज़रों में एक प्रोडयूसर की ज़िंदगी सिर्फ़ चालीस रुपए होती है। ग़ौरतलब है कि ये मुहिम इक्कीस लोगों ने मिलकर शुरू की है जिन्होंने IMPPA की बागडोर सही हाथों में देने का बीड़ा उठाया है जिसे इस हैशटैग के साथ शुरू किया गया है #आप_हमारे_साथ_हम_आपके_साथ