Home देश बढ़ेंगी मोदी की मुश्किलें, CBI डायरेक्टर की चुनौती, ‘अगर मेरी जांच हुई...

बढ़ेंगी मोदी की मुश्किलें, CBI डायरेक्टर की चुनौती, ‘अगर मेरी जांच हुई तो गोधरा कांड की जांच फिर खुलेगी।’

SHARE

नज़ीर मलिक

सी बी आई चीफ आलोक वर्मा ने एक गंभीर बात कह दी है। उनका कहना है कि अगर उनकी जांच हुई तो गोधरा कांड की जांच फिर खुलेगी। मै नहीं मानता कि आलोक वर्मा का कथन ही अंतिम सच है, लेकिन उन्होंने जिस अंदाज़ में सरकार को ललकारा है, सरकार को उनकी चुनौती स्वीकार करनी चाहिए। अगर सरकार वर्मा साहब की जांच कराती है कि बर्मा साहब के पास गोधरा कांड के कौन से रहस्य छुपे हैं। हलाँकि ये बयान पहले अस्थाना ने दिया था।

हालांकि तमाम स्टिंग आपरेशनों में भाजपा के मंत्री तक बताते पाए गए है की उन्होंने इस दंगे में क्या क्या भूमिका निभाई, मगर सीबी आई के सर्वोच्च अफसर अगर इसकी पोल खोलते हैं तो यह महत्वपूर्ण होगा। इसलिए सरकार अगर इस मामले में उदासीन रुख अपनाती है तो मान लेना चाहिए कि उसके दामन में दाग हैं।

वैसे सी बी आई के दूसरे सबसे वरिष्ठ अफसर अस्थाना साहब और उनके चेलों का रिपोर्ट कार्ड बहुत खराब रहा है। अस्थाना और उनके चेले गोधरा से लगायत लालू यादव के चार घोटाला कांड, शिवराज चौहान के व्यापम घोटाला कांड कि जांच रिकार्ड पर सदा उंगली उठती रही है। एक ही कांड में लालू को जेल और जगन्नाथ को मुक्ती इसका सबसे सटीक मिसाल है।

ऐसे में सी बी आई चीफ आलोक वर्मा ने मोदी जी को ललकार कर मोदी कि सत्यनिष्ठा को चुनौती दी है। न खाऊंगा, न खाने दूंगा का नारा देने वाले मोदी कि अगर वाकई ईमानदार है तो उन्हें आलोक वर्मा की चुनती कबूल करनी चाहिए, वरना इतिहास उन्हें माफ नहीं करेगा। प्रधान मंत्री जी सीबी आईं चीफ की चुनौती कबूल कर उनकी जांच कराए, ताकि जनता को सच और झूठ का पता चल सके, वरना ये नारा फैलता जाएगा की चौकीदार ही चोर है।