Home मुख्य खबरें नीत नई घोषणा करने वाले शिवराज, दे पुराने वादों का हिसाब: उमर...

नीत नई घोषणा करने वाले शिवराज, दे पुराने वादों का हिसाब: उमर कासमी

902
0
SHARE

भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री इन दिनों जन आशीर्वाद यात्रा निकाल रहे है। इस यात्रा में वे आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर जनता से कई वादे कर रहे है। ऐसे में कांग्रेस नेता मोहम्म्द उमर कासमी ने शिवराज से बीते 5 सालों का हिसाब मांगा है।

उन्होने कहा कि शिवराज सिंह ने पिछले चुनाव मे किए वादों को तो पुरा नहीं किया है और वे जनता को एक बार फिर से सपने दिखा रहे है। उन्होने कहा कि नीत नई घोषणा की जा रही है। लेकिन इन घोषणाओं को पूरा करने के लिए राज्य के खजाने में पैसा भी नहीं है। उन्होने कहा कि अब तक पिछले चुनाव की घोषणाओं पर ही पूरा अमल नहीं हो पाया है।

कासमी ने कहा कि मध्य प्रदेश की सात करोड़ 33 लाख की जनसंख्या 1.83 लाख करोड़ रुपए के कर्ज में डूबी हुई है। शिवराज सरकार के भ्रष्टाचार और घोटालों के कारण आज राज्य के हर नागरिक पर 36000 हजार रुपए का कर्ज है। जो शिवराज सिंह की और से जनता को मिला एक उपहार है। उन्होने कहा कि पैसों के अभाव में किसानों का कर्जमाफ़ी नहीं हो रही। जिसके चलते वे आत्महत्या को मजबूर हो रहे है। दूसरी और मजदूर और बेरोजगार वर्ग त्राहि-त्राहि कर रहा है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि मनरेगा जैसी योजना भ्रष्टाचार की भेंट चड़ चुकी है। योजनाओं को सुचारु रूप से चलाने का दावा करने वाली शिवराज सरकार रोज नए कानून निकाल कर इन योजनाओं में बदलाव कर रही है। लेकिन जमीन पर कुछ होता नहीं दिख रहा है। बावजूद शिवराज अपनी यात्रा को जन आशीर्वाद यात्रा का नाम दे रहे है। जो असल में देखा जाये तो सिर्फ एक जबरन यात्रा है।

यात्रा पर सवाल उठाते हुए उन्होने कहा कि आशीर्वाद खरीदा नहीं जाता है। बल्कि आशीर्वाद प्राप्त किया जाता है। उन्होने कहा, राज्य का कर्मचारी परेशान है, युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है, किसानों को उपज के दाम नहीं मिल रहे हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर शिवराज किस मुंह से लोगों से आशीर्वाद मांगने निकले है। उन्हे जनता से माफी मांगनी चाहिए।